Industrial Training Institute Pusa
Rules for Trainees
Print

 

सेमेस्टर सिस्टम  में  न्यूनतम हाजिरी का प्रतिशत

सेमेस्टर सिस्टम  की किसी भी परीक्षा में  बैठने के लिए कम से कम 80  प्रतिशत हाजिरी होना अनिवार्य है |

सेमेस्टर सिस्टम  में  ग्रेस मार्क्स  

एक पेपर में या सभी पेपरों में इंजीनियरिंग ट्रेड  में कुल मिलाकर 07 (सात) मार्क्स  का तथा नॉन इंजीनियरिंग ट्रेड में 02 (दो ) मार्क्स का ग्रेस मिलने का प्रावधान है |  यह प्रावधान प्रक्टिकल के पेपर में नहीं है |  यह प्रावधान अगस्त 2014 सेमेस्टर सिस्टम में नहीं था |

 

ट्रेनीस जिनके 80% हाजिरी थी लेकिन किसी कारण वश  सेमेस्टर  की  परीक्षा में नहीं बैठे पाए  और दूसरे सेमेस्टर में ट्रेनिंग ली |

 

ऐसे ट्रेनीस जिनको एडमिशन कार्ड मिल गया था लेकिन किसी कारण वश उस  सेमेस्टर  की  परीक्षा में नहीं बैठे पाए  तथा अगले सेमेस्टर में  भी पूरी हाजरी हैं तो उन्हें दोनों सेमेस्टर के पेपर देने की अनुमति होगी |

 

ट्रेनीस जिनके 80% हाजिरी नहीं थी  और सेमेस्टर  की  परीक्षा में  उन्हें परीक्षा मैं बैठने की अनुमति नहीं दी गयी |

 

ऐसे ट्रेनीस अगले बैच के साथ उसी सेमेस्टर  मैं दुबारा दाखिला  लेकर ट्रेनिंग लेंगे तथा 80% हाजिरी  होने पर ही परीक्षा मैं बैठ पाएंगे | ऐसे ट्रेनीस का दाखिला SUPERNUMERARIES  सीटों  में  से होगा |

 

ट्रेनीस जिन्होंने  अपनी ट्रेनिंग बीच में छोड़ दी और आईटीआई में दुबारा ट्रेनिंग करने के लिए आते हैं

 

ऐसे ट्रेनीस अगले बैच के साथ उसी सेमेस्टर  मैं दुबारा दाखिला  लेकर ट्रेनिंग लेंगे | ऐसे ट्रेनीस का दाखिला SUPERNUMERARIES  सीटों  में  से होगा |

 

 

नेगटिव मार्किंग

 

सेमेस्टर सिस्टम   की  प्रक्टिकल को छोडकर सभी परीक्षाओं में  04 (चार ) गलत उतर देने पर 01 (एक) मार्क काट लिया जायेगा |

सेमेस्टर सिस्टम  में  All India Trade Test (AITT) को पास करने के लिए प्रयासों की संख्या

फेल्ड (Failed) ट्रेनीस को अपने प्रथम परीक्षा के बाद,  पांच साल के अंदर  किसी भी सेमेस्टर की परीक्षा में उतीर्ण होना अनिवार्य होगा | परीक्षा उतीर्ण करने के लिए ट्रेनीस को पांच बार प्रयास करने की अनुमति होगी | ट्रेनी का पहला रेगुलर प्रयास उसका प्रथम परीक्षा माना जायेगा  और उसके बाद उसे चार मौके और दिए जाएंगे |

केवल फेल्ड (Failed) ट्रेनीस को ही अगले सेमेस्टर में प्रोमोट किया जायेगा और आगे  की परीक्षा में बैठने दिया जायेगा |


ऐसे ट्रेनीस जिनकी हाजरी 80% या उपर थी तथा Exam Fee जमा करने के बाद सेमेस्टर की परीक्षा में बैठने का “ प्रवेश पत्र ” मिल गया था और  किसी कारणवश परीक्षा में बैठ नहीं पाए , उन्हें भी मुख्यालय की अनुमती से अगले सेमेस्टर में प्रोमोट किया जायेगा और उन्हें पुराने सेमेस्टर की परीक्षा अगले सेमेस्टर में देने की अनुमति होगी लेकिन उन्हें परीक्षा उतीर्ण करने के लिए चार की बजाय केवल तीन और प्रयास मिलेंगे |

DGE&T 19/04/2011-CD(PT) DATED 16.07.2014

 


Chief Minister
Latest News
Important Links
Last Updated :26/Feb/2015